एक अनदेखा रास्ता (भाग-1, भाग-2, भाग-3)


 

'एक अनदेखा रास्ता' एक उपन्यास है| विभिन्न पात्रों से सुसज्जित इस उपन्यास में प्रत्येक पात्र की अपनी अलग कहानी है| 'एक अनदेखा रास्ता' में जहाँ गरीबी के कष्टों की पीड़ा है, वहीं प्रेम और सौन्दर्य की भी कमी नहीं है| इस उपन्यास में पुरुष पात्रों के साथ-साथ नारी पात्रों का चरित्रांकन भी अधिक सफल और उत्कृष्ट है| कुल मिलाकर यह एक रोचक, मनोरंजक और प्रेम भावनाओं से भरपूर उपन्यास है|

’एक अनदेखा रास्ता भाग-2’ में प्रत्येक पात्र की कहानी विस्तार से आगे बढ़ती है। उपन्यास में जहाँ अभिमान, क्रोध और हिंसा की कुरूपता है, वहीं बाल्यावस्था और युवावस्था की प्रेमकथा की सुंदरता है। इस उपन्यास में समस्त पात्रों के संवाद सरल और वास्तविक लगते हैं, जो दिल को छूने वाले हैं। संक्षेप में यह उपन्यास साहस, स्वाभिमान, सामाजिक चेतना, प्रेम और त्रासदी से भरपूर है।

’एक अनदेखा रास्ता अंतिम भाग-3’ में प्रत्येक पात्र की कहानी अपनी-अपनी मंजिल तक पहुँचती है। उपन्यास में जहाँ बुराई पर अच्छाई की जीत होती है, वहीं प्रेमी-युगलों का मधुर तरीके से मिलन होता है। अंततः यह मनोरंजक उपन्यास बहुत सुन्दर, संतोषजनक और स्पष्ट अंत तक पहुँचता है, जो खुशनुमा अहसास देता है।